Detailed Notes on Goal Setting


तां पूरी कर लैंणे दे कि अपणे होंदेयां तेरी वोटी नूं वेख लइये। मैंने समझाया - वेख बेबे, तेनू नूं दा इन्ना ई शौक है तां बिल्लू ते गोलू दोंवां दा वया कर दे। तेरियां दो दो नूंआ तेरी सेवा करन

किया था उसने। - तू मिली है उससे कभी? - पक्के तौर तो नहीं कह सकती कि वही लड़की है। - खैर जाने दे, ये बता ये सरदारजी क्या करते हैं.

Build subgoals. Most goals are more achievable if damaged down into lesser responsibilities. These smaller sized jobs are subgoals--tiny goals that include as many as the leading goal you hope to achieve.

Customers from the Coalition contain a various team of private and non-private universities. Coalition colleges deliver considerable assistance to decrease–resourced and underrepresented college students, present liable pupil economic aid support, and display a determination to university student graduation.

ही पड़ेगा। उसके लिए दारजी परमिशन देने से रहे। बस, किसी तरह वह बीए पूरा कर ले तो उसके लिए यहीं कुछ करने की सोचूंगा।

Nope. Until impressing anyone is tied in your goal, you must target a goal that is satisfying and crucial to you, in spite of how it'll effect your social standing.

अपने खुद के पैसों से ऊन लायी है..। मेरी सेवा तो इतने जतन से कर रही है कि जैसे इन सारे बरसों की सारी कसर एक साथ पूरी

बेहतर था, लेकिन फिर ख्याल आता है कि इस पूरी यात्रा की एक मात्र यही उपलब्धि यही है कि सबसे मिल लिया, तुझे देख लिया

और इंतज़ाम भी क्या बढ़िया सोचा है कि एक बेटे की शादी में दहेज लो और अपनी लड़की की शादी में वही दहेज देकर दूसरे का

साथ-साथ ही आ रहे थे। उन्होंने ही पहले हैलो की और पूछा - क्या नया आया हूं सामने वाले घर में। उन्होंने मेरा नाम वगैरह पूछा

आने लगा है। दारजी मेरे इस रूप को देख कर हैरान भी हैं और खुश भी। बेबे ने आस-पास के सारे रिश्तेदारों और जान-पहचान वालों को न्योता भेजा है। वैसे भी अब तक सारे शहर को ही खबर हो ही चुकी

- वीरजी, आप तो बुरा मान गये। कोई बंबई आये और अपनी पसंद के हीरो से न मिले तो इत्ती दूर जाने का मतलब

बहन Goal Setting है। हम बात कर रहे हैं। कोई डिस्टर्ब न करे! - हां अब बता, क्या मामला है, और तेरी ये आंखें क्यों भरी हुई हैं, पहले आंसू पोंछ ले, नहीं तो चाय नमकीन लगेगी। - यहां किसी की जान जा रही है और आप को मज़ाक सूझ रहा है वीर जी। - तू बात भी बतायेगी या पहेलियां ही बुझाती रहेगी, बोल क्या बात है.

It's a smart idea check here to do some extra creating below, trying to explain your goals in as much detail as you can.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *